Category Archives: Hindi Poems

बचपन

एक बचपन का जमाना था,जिसमें खुशियों का खजाना था, चाहत चाँद को पाने की थी,पर दिल तितली का दिवाना था, खबर ना थी कुछ सुबहा…

Tumhe Khushiyan De Jaun

तेरी एक हँसी पे ये दिल कुर्बान कर जाऊँ, ऐतराज ना हो अगर तो तेरा दिल चुरा ले जाऊँ, ना बहने दुँ कभी इन आँखों…

सपनों के थे दिन

तारों में छिपा क्या वो आसमान था लफ्ज़ो में बहता वो सागर था क्या जिन्दगी का दरिया था जहाँ बूँद -बूँद का नज़रिया था बहती…

मेरे िपता

सोई सोई पलकोँ ने जब देखा था उस ईश्वर रूपी को िखली िखली आँखो ने जब देखा था उस िवद्यमान रूपी को पहली बार जब…